दुनिया

विप्र कॉलेज एवं महिला महाविद्यालय का संयुक्त आयोजन त्रिदिवसीय अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी का हुआ, समापन

145views
Share Now

रायपुर:विप्र कॉलेज एवं महिला महाविद्यालय का संयुक्त आयोजन त्रिदिवसीय अंतरराष्ट्रीय सेमिनार
सट्टा व्यापार का अंतर्राष्ट्रीय व्यावसायिक वातावरण पर प्रभाव के समापन दिवस के प्रथम सत्र के प्रमुख प्रवक्ता प्रो चंद्रशेखर अरुणकर (प्रोफेसर पुणे यूनिवर्सिटी)ने अपने व्याख्यान में बताया की सट्टा व्यापार वास्तव में मुद्रा प्रवाह के सकेंद्रण को दर्शाता है जो अंतर्राष्ट्रीय व्यापार के वातावरण में विदेशी निवेशकों के एकतरफा रुझान की प्रवृत्ति का झलक है, जिससे केवल एक ही व्यापारिक वातावरण को प्रोत्साहन मिलता है।हाई ब्रीड मोड में आयोजित सेमिनार के द्वितीय सत्र में नीलम गांधी,पूजा मोटवानी ,सपना , प्रिया पचोली,जागृति ब्राह्मणकर,रश्मि अग्रवाल,सृष्टि चंद्राकर इत्यादि 25 शोधार्थियों ने अपने शोधपत्र प्रस्तुत किया।
तृतीय सत्र में मुख्य वक्ता प्रो.अब्दुल करीम ने उपरोक्त शोध पत्रों की समीक्षा करते हुए अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा सट्टा व्यवसाय से निश्चित तौर पर अंतरराष्ट्रीय व्यापारिक वातावरण में विदेशी पूंजी का प्रवाह बढ़ा है तथा इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ा है। त्री दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सेमिनार के समापन समारोह में उपस्थित डा. देवाशीष मुखर्जी ,प्राचार्य महंत महाविद्यालय, ने समापन उदबोधन में कहा कि सट्टा व्यवसाय नया नहीं अपितु पुरातन पद्धति है जिसमे पृथक पृथक बाजार में निवेशक उनसे प्राप्त होने वाली अत्यधिक आय अथवा प्रत्याय की मात्रा को ध्यान में रखते हुए निवेश का निर्णय लेते है ।यह सट्टा निवेश की प्रक्रिया का ही परिणाम है की आज अंतरराष्ट्रीय व्यापार का वातावरण न केवल द्वितीयक क्षेत्र में आगे है अपितु सेवा के क्षेत्र में भी उन्नति कर रहा है।

संयोजक प्रो. मधुलिका अग्रवाल ने तीन दिनों के आयोजन की उपलब्धि व्यक्त करते हुए कहा कि तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सेमिनार में विद्वानों की व्याख्यान माला से समस्त प्रतिभागी नए विचारों से लाभान्वित हुए।
विप्र महाविद्यालय के प्राचार्य डा. मेघेश तिवारी ने कहा ऐसे सेमिनार के आयोजन से निश्चित तौर से नए विषयों के संबंध से प्रतिभागी परिचित होते है और उनके ज्ञान में वृद्धि होती है।अंत मे प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र वितरित किया गया।समापन अवसर पर डा. ऋतु मारवाह डा. आराधना शुक्ला , निधि श्री शुक्ला ,डॉ. सीमा अग्रवाल ,प्रगति राय ,रीना शुक्ला,मोहित श्रीवास्तव , सुमन पांडे रसिका मालवीय, ग्यास अहमद,सहित समस्त प्राध्यापक और बड़ी संख्या में प्रतिभागी उपस्थित थे।

Share Now

Leave a Response