health

health

शरीर को अंदर से सड़ा सकती हैं,कोल्ड ड्रिंक्स:डॉ. विकास कुमार

दिल्ली:आपके शरीर को अंदर से सड़ा सकती हैं कोल्ड ड्रिंक्स/, नुकसान जान लेंगे तो आप भी बना लेंगे इस मीठे जहर से दूरी .गर्मी से राहत पाने के लिए आप जिन ड्रिंक्स को बड़े शौक से पी रहे हैं, आईए देखते हैं इसके नुकसान को ..1. कोल्ड ड्रिंक्स में इस्तेमाल होने वाली आर्टिशियल चीनी में दो मुख्य कंपाउंड- ग्लूकोज और फ्रुक्टोज होते हैं। ग्लूकोज को हमारे बॉडी के सभी सेल्स प्रयोग  करते हैं जबकि फ्रुक्टोज को लिवर द्वारा प्रयोग जाता है, लेकिन ज्यादा मात्रा में कोल्ड पीने से शरीर में...
health

आयुर्वेद महाविद्यालय चिकित्सालय में 1256 बच्चों का स्वर्णप्राशन

रायपुर: बच्चों के व्याधिक्षमत्व, पाचन शक्ति, स्मरण शक्ति, शारीरिक शक्तिवर्धन एवं रोगों से बचाव के लिए शासकीय आयुर्वेद महाविद्यालय चिकित्सालय रायपुर में सोमवार को 1256 बच्चों को स्वर्णप्राशन कराया गया। आयुर्वेद महाविद्यालय चिकित्सालय के कौमारभृत्य विभाग द्वारा हर पुष्य नक्षत्र तिथि में शून्य से 16 वर्ष के बच्चों को स्वर्णप्राशन कराया जाता है। स्वर्णप्राशन के साथ ही डॉ. लवकेश चंद्रवंशी ने बच्चों के स्वास्थ्य का परीक्षण भी किया।...
health

मरीज की छाती पर बिना चीरे के ट्रांसकैथेटर माइट्रल वाल्व किया गया, इंप्लांट

रायपुर:पंडित जवाहर लाल नेहरू स्मृति चिकित्सालय से संबद्ध डॉ. भीमराव अम्बेडकर स्मृति चिकित्सालय स्थित एडवांस कार्डियक इंस्टीट्यूट (एसीआई) में कॉर्डियोलॉजी विभागाध्यक्ष डॉ. स्मित श्रीवास्तव एवं टीम ने ट्रांसकैथेटर माइट्रल वाल्व इम्प्लांट (टीएमवीआर) वॉल्व इन वॉल्व प्रक्रिया के जरिए एक 70 वर्षीय महिला मरीज की जिंदगी बचाई। इस प्रक्रिया के साथ एसीआई पूरे छत्तीसगढ़ राज्य में मरीज की छाती पर बिना किसी चीरे के माइट्रल वाल्व रिप्लेसमेंट प्रक्रिया को पूरा करने वाला पहला और एकमात्र संस्थान बन गया। डॉ. स्मित श्रीवास्तव के अनुसार माइट्रल वाल्व को रोगी की जांघ की नसों...
health

आंवला एंटी-ऑक्सीडेंट्स और विटामिन सी से है,भरपूर

रायपुर:आंवला  एंटी-ऑक्सीडेंट्स और विटामिन सी से भरपूर होता है. इसे खाने पर ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस कम होता है, सेल्यूलर डैमेज कम होता है और शरीर इंफेक्शंस से भी बचा रहता है. रोजाना कच्चा आंवला या फिर आंवले का मुरब्बा खाया जाए तो पेट की दिक्कतों से लेकर स्किन और बालों तक को फायदा मिल सकता है. आयुर्वेद में भी आंवले के सेवन की सलाह दी जाती है. आंवला पोषक तत्वों का पावरहाउस होता है. इसे खाने पर शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता यानी इम्यूनिटी मजबूत होने में मदद मिलती है....
health

हार्ट अटैक के मामलों में तत्काल अस्पताल जाएँ: डॉ. अनुज कुमार

नई दिल्ली:हालाँकि आयुर्वेद में पीपल के पत्ते का कई उपयोग है लेकिन ये जानकारी गलत है कि पीपल के पत्ते से 99% हार्ट ब्लॉकेज ठीक होते हैं।नियमित रुप हफ़्ते में 5 दिन, कम से कम आधे घंटे की physical activity और संतुलित आहार बेहद ज़रूरी है।किसी भी प्रकार के नशे से बिलकुल दूर रहें।हार्ट अटैक के मामलों में तत्काल अस्पताल जाएँ। थोड़ी भी देरी जानलेवा हो सकती है।...
health

ढाई-तीन घंटे की ड्राइविंग के बाद रोड हिप्नोसिस होता है,प्रारंभ

रायपुर:रोड हिप्नोसिस क्या है ?....किसी भी वाहन की ड्राइविंग करते समय की एक शारिरिक स्थिति है। सामान्यतः लगातार ढाई-तीन घंटे...
health

सही  खानपान ,योग ,मेडिटेशन और नियमित रूप से एक्सरसाइज से हम अपने ब्रेन को कर सकते हैं, मजबूत:डॉ. विकास

नई दिल्ली:आज कल बेहद कम उम्र में लोगों की यादास्त कमजोर होने लगी है,इसके पीछे कई वजह हो सकते हैंIपरंतु एक महत्वपूर्ण बात यह है कि जिस तरह हम अपने शरीर के लिए एक्सरसाइज /जिम करते हैं Iक्या हम अपने ब्रेन को मजबूत करने के लिए कुछ करते हैं ?  कुछ टिप्स बताता है जिससे आपका ब्रेन हमेशा एक्टिव और मजबूत रहेगा और साथ ही वैसे ही आदतों को देखेंगे जो हमारे ब्रायन को डैमेज करता है इन तरीकों से होता है दिमाग तेज और मजबूत 1.गणित में बढ़ाएं रुचि...
health

अपने वजन के हर एक किलो पर करीब 0.8gm प्रोटीन लेना चाहिए:डॉ अनुज

नई दिल्ली:अपने वजन के हर एक किलो पर करीब 0.8gm प्रोटीन लेना चाहिए।अर्थात अगर 50kg वजन है तो 40gm प्रोटीन।अगर आपका वजन 80 kg है तो 64 gm प्रोटीन।एक 80 kg के एथलीट को, जिसे muscle mass बनाना है, उसे भी हर दिन मात्र 160 gm प्रोटीन चाहिये।इन दोनों परिस्थितियों में अगर आप संतुलित diet लेते हैं तो आपको किसी प्रोटीन पाउडर की ज़रूरत नहीं है। अंडा,दही,मूँगफली, सोयाबीन, दूध, चिकन इत्यादि प्रोटीन के महत्वपूर्ण श्रोत हैं।एक अंडे में 6 gm प्रोटीन, 100 ग्राम सोयाबीन में करीब 36.5 gm प्रोटीन, 100...
health

डेंगू बुखार – कारण, लक्षण, निदान और इलाज:डॉ विकास कुमार

नई दिल्ली:🔷डेंगू बुखार - कारण, लक्षण, निदान और इलाज 🔷डेंगू कब जानलेवा होता है ? 🔷प्लेटलेट कैसे बढ़ाएं ? 🔷कब पड़ती है प्लेटलेट चढ़ाने की आवश्यकता ? इन सभी प्रश्नों के उत्तर डेंगू किस कारण होता है? डेंगू वायरस द्वारा होता है जिसके चार विभिन्न प्रकार हैं टाइप 1,2,3,4 आम भाषा में इस बीमारी को हड्डी तोड़ बुखार कहा जाता है क्योंकि इसके कारण शरीर व जोड़ों में बहुत दर्द होता हैl डेंगू फैलता कैसे हैं? मलेरिया की तरह डेंगू बुखार भी मच्छरों के काटने से फैलता है इन मच्छरों...
1 2 3
Page 1 of 3