दुनिया

भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए युवाओं की विज्ञान एवं अनुसंधान में भागीदारी अपरिहार्य: डॉ अर्चना शर्मा

75views
Share Now

दुर्ग: भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए युवाओं की विज्ञान एवं अनुसंधान में भागीदारी अपरिहार्य है. उक्त विचार एमजे कालेज भिलाई में आयोजित एक दिवसीय कार्यशाला में भाभा एटामिक रिसर्च सेंटर की बीम टेक्नोलॉजी की डायरेक्टर डॉ अर्चना शर्मा ने मुख्य अतिथि के रूप में व्यक्त किया। साथ ही उन्होंने एमजे कालेज के साइंस स्टूडेंट्स को भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर के BARC विजिट का न्यौता दिया. BARC के बीम टेक्नोलॉजी डेवलपमेंट ग्रुप की डायरेक्टर डॉ अर्चना शर्मा ने उन्हें बार्क विजिट के लिए आमंत्रित करते हुए कहा कि साइंटिस्ट बनने के लिए विषय की गहन जानकारी, प्राब्लम साल्विंग स्किल्स एवं एप्रोच ज्यादा महत्वपूर्ण होता है.
एमजे समूह की डायरेक्टर डॉ श्रीलेखा विरुलकर के दिशानिर्देश एवं प्राचार्य डॉ अनिल कुमार चौबे के मार्गदर्शन में महाविद्यालय के शिक्षा तथा विज्ञान संकाय द्वारा आंतरिक गुणवत्ता आश्वासन प्रकोष्ठ के सहयोग से आयोजित एक दिवसीय कार्यशाला में परमाणु उर्जा का समाज और शिक्षा में उपादेयता विषय पर संबोधित करते हुए उन्होंने बार्क के अधीन सक्रिय संस्थानों एवं उनके कामकाज के बारे में सारगर्भित जानकारी दी. उन्होंने कहा कि भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए युवाओं की विज्ञान एवं अनुसंधान में भागीदारी अपरिहार्य है.

देश के चोटी के 75 महिला वैज्ञानिकों में शामिल डॉ अर्चना ने कहा कि आज का अनुसंधान कल की टेक्नोलॉजी है. बार्क के वैज्ञानिकों ने कृषि, चिकित्सा एवं ऊर्जा के क्षेत्र में प्रभावशाली योगदान किया है. बार्क युवाओं को अनुसंधान के क्षेत्र में लाने के लिए कई योजनाएं चलाता है. उन्होंने विद्यार्थियों को बार्क विजिट के लिए आमंत्रित करने के साथ ही उन्हें बार्क द्वारा संचालित प्रशिक्षण कार्यक्रमों में शामिल होने का भी न्यौता दिया.
आरंभ में अतिथि का स्वागत करते हुए प्राचार्य डॉ. अनिल कुमार चौबे ने विज्ञान एवं अनुसंधान विषय पर सारगर्भित उद्बोधन दिया. उन्होंने कहा कि आज का कार्यक्रम विद्यार्थियों को अनुसंधान के लिए प्रेरित करने एवं उपलब्ध अवसरों से उन्हें अवगत कराने के लिए किया गया है. कार्यक्रम का संयोजन शिक्षा संकाय की प्रोफेसर डॉ तृषा शर्मा और विज्ञान संकाय के प्रभारी श्री प्रेम शंकर ने किया।
इस अवसर पर महाविद्यालय की उप प्राचार्य डॉ श्वेता भाटिया, शिक्षा संकाय की प्रोफेसर डॉ तृषा शर्मा, ममता एस राहुल, विज्ञान संकाय के प्रभारी विभागाध्यक्ष प्रेमशंकर, रजनी सिंह, सलोनी बासू, आराधना तिवारी, एमजे कालेज ऑफ नर्सिंग के प्राचार्य प्रो. डैनियल तमिल सेलवन, उप प्राचार्य डॉ सिजी थॉमस, एमजे कालेज ऑफ फार्मेसी के प्राचार्य डॉ दुर्गा प्रसाद पंडा, वाणिज्य एवं प्रबंधन संकाय के विभागाध्यक्ष विकास सेजपाल, स्नेहा चंद्राकर, तरन्नुम बानो, अजय वर्मा एवं विद्यार्थी बड़ी संख्या में उपस्थित थे. कार्यक्रम का संचालन दीपक रंजन दास ने किया।

Share Now

Leave a Response