शहर

आज का युग अनुवाद का युग – प्रो. शेख

70views
Share Now

दुर्ग: आज का युग अनुवाद का युग है। आज के समय में ज्ञान-विज्ञान, शिक्षा और साहित्य को अनुवाद की तकनीक और अधिक वैज्ञानिक तथा संप्रेषणीय बना दिया है। उक्त विचार आज कल्याण स्नातकोत्तर महाविद्यालय भिलाई के हिंदी विभाग और आंतरिक गुणवत्ता मूल्यांकन प्रकोष्ठ के द्वारा आयोजित अतिथि व्याख्यानमाला में पुणे के हिंदी विद्वान डॉ शहाबुद्दीन शेख ने व्यक्त किए।
नागरी लिपि परिषद के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष डॉ शहाबुद्दीन शेख का परिचय हिंदी विभाग के अध्यक्ष डॉ सुधीर शर्मा ने दिया। डॉ शेख ने विद्यार्थियों और प्राध्यापकों को संबोधित करते हुए कहा कि अनुवाद की लंबी भारतीय परंपरा रही है। एक अनुवादक को मूल और स्रोत दोनों भाषाओं का ज्ञान होना चाहिये। मूल भाषा में व्यक्त भावनाओं और कथ्य को सही रूप में दूसरी भाषा में प्रस्तुत करना श्रेष्ठ संप्रेषणीय और सफल अनुवाद है। डॉ शेख ने हिंदी, अंग्रेजी और मराठी भाषा के मध्य अनुवाद के संबंधों को उदाहरण के साथ प्रस्तुत किया। अनुवाद भाषाओं के मध्य एक सेतु है। डॉ शेख ने कहा कि अनुवाद विज्ञान के विद्वान नायडा ने इसकी अच्छी परिभाषा दी है। दोनों भाषाओं की प्रकृति और अभिव्यक्ति की शैली को समझना जरूरी है।
इस अवसर पर विद्यार्थियों और शोधकर्ताओं के अलावा प्राध्यापक डॉ फिरोजा जाफर अली, डॉ अंजन कुमार, प्रो अरूणा चौबे, पूजा विश्वकर्मा, डॉ अशोक तिवारी आदि उपस्थित थे।

Share Now

Leave a Response