प्रदेश

सुशासन दिवस पर भ्रष्ट अधिकारीयों के खिलाफ कार्यवाही की उठी मांग

83views
Share Now

रायपुर: सुशासन दिवस पर भ्रष्ट अधिकारीयों के खिलाफ कार्यवाही की मांग उठने लगी है।किरण कौशल रजिस्ट्री विभाग की प्रमुख हैं और कैसे इनके विभाग में ऊपर तक छोटी छोटी बातों के लिए रकम पहुचाई जाती है।जब पानी सर से ऊपर गुजर गया तब महासमुंद जिले के भाजपा महामंत्री संजय शर्मा ने आगे आ कर रजिस्ट्री कार्यालय के सामने बैनर लगा कर विरोध कर रहे हैं।छत्तीसगढ़ के लिए ये एक नया प्रयोग होगा।

रानू साहू ही केवल दोषी है ,कार्यवाही केवल छत्तीसगढ़िया साहू तक सीमित नही होनी चाहिए।किरण कौशल जिन्होंने भ्रष्ट्राचार की हर हद पार कर दी है।जनता उस पर भी कार्यवाही की प्रतिक्षा कर रही है।कार्यवाही में विलंब से यह प्रश्न भी लाजमी है कि क्या ED में भी कोई सेटिंग तो नही हो गई है।

सूत्रों के अनुसार किरण कौशल का कोरबा कार्यकाल 2 वर्ष 4 माह का रहा जो कि रानू साहू के 1 वर्ष से दुगना है।फिर भी सिर्फ रानू साहू पर कार्यवाही हो रही है ।जबकि कोयले में लेवी ₹25 सरकार की और ₹2 कलेक्टर की यह प्रथा किरण कौशल ने ही कोरबा में चालू की थी। सभी उद्योग इसकी पुष्टि कर रहें है।
इसे अलावा *DMF* की तो ये विशेषज्ञ है।बालोद,अम्बिकापुर सभी जगह इसके चर्चे है।अभी तक कुल *₹1000 करोड़ DMF में खेल कर चुकी है।जानकारी के अनुसार किरण कौशल का कोरबा में कार्यकाल 4/2/2019 से 5/6/2021 तक 2 साल 4 माह। रानू साहू का कोरबा में कार्यकाल 5/6/2021 से 28/6/2022 तक कुल कार्यकाल
*मात्र 1 वर्ष था।ऐसी परिस्थितियों में किरण कौशल पर कोई भी कार्यवाही न होना कई प्रश्नों को जन्म देता है। ऐसे में सुशासन दिवस पर जनता ऐसे कई भ्रष्ट अधिकारियों पर कार्यवाही की आस लगाए है।

 

Share Now

Leave a Response