प्रदेश

बीमा पेंशनर्स ने मनाया पेंशनर्स दिवस:सभी के लिए ओ पी एस बहाल करने की हुई, मांग

89views
Share Now


रायपुर :आल इंडिया इंश्योरेंस पेंशनर्स एसोसिएशन के आव्हान पर प्रतिवर्ष समूचे देश में 17‌ दिसम्बर को अखिल भारतीय पेंशनर्स दिवस का आयोजन किया जाता है। इस वर्ष रविवार होने के कारण रायपुर मंडल के बीमा पेंशनर्स ने इसे 18 दिसंबर को मनाया। इस अवसर पर LIC के समस्त कार्यालयों के समक्ष भोजनावकाश के दौरान द्वार प्रदर्शन कर सभाएं ली गयी तथा बीमा पेंशनर्स की मांगों को प्रभावी रूप से उठाया गया। इस अवसर पर सेवारत कर्मियों के संगठन रायपुर डिवीजन इंश्योरेंस एम्पलाइज यूनियन की भी पूरी सहभागिता रही।


LIC के रायपुर मंडल कार्यालय के समक्ष आयोजित इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में उपस्थित पेंशनर्स, कर्मचारियों व अधिकारियों को संबोधित करते हुए आल इंडिया इंश्योरेंस एम्पलाइज एसोसिएशन के सहसचिव तथा सेंट्रल जोन इंश्योरेंस एम्पलाइज एसोसिएशन के महासचिव काम.धर्मराज महापात्र ने सार्वजनिक क्षेत्र के जीवन बीमा तथा आम बीमा दोनों उघोगों में पेंशन को अघतन किये जाने की मांग की। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के के पेंशनर्स की पेंशन वेतन पुनर्निधारण के साथ ही अघतन हो जाती है लेकिन बीमा कर्मियों को इस लाभ से वंचित रखा जा रहा है। काम. महापात्र ने नई पेंशन योजना रद्द करने तथा पुरानी पेंशन योजना तत्काल बहाल करने की मांग की। उन्होंने छत्तीसगढ़ व राजस्थान में कांग्रेस की पराजय के बाद उसके द्वारा लागू पुरानी पेंशन योजना को समाप्त किए जाने की भाजपा सरकारों की मंशा का कड़ा विरोध किया तथा आव्हान किया पुरानी पेंशन योजना के समर्थन में देशभर में निर्मित हो रहे व्यापक आंदोलन को मजबूत बनायें। सभा को संबोधित करते हुए रायपुर डिवीजन इंश्योरेंस एम्पलाइज यूनियन के महासचिव काम. सुरेन्द्र शर्मा ने सार्वजनिक बीमा उघोग पर जारी हमलों का जिक्र करते हुए कहा कि निजीकरण की मुहिम को परास्त करने के संघर्ष में पेंशनर्स साथियों को भी अपनी सक्रिय भूमिका का निर्वहन करना होगा। सभा का संचालन करते हुए बीमा कर्मचारी पेंशनर्स एसोसिएशन रायपुर मंडल के महासचिव काम . अतुल देशमुख ने एल.आई.सी. में पारिवारिक पेंशन की राशि को 15% से बढ़ाकर 30% किये जाने की मांग पर हासिल सफलता तथा मेडिक्लेम योजना में शामिल होने का एक और विकल्प प्राप्त होने पर बधाईयां दी तथा इसे लम्बे समय से जारी संघर्ष की विजय निरूपित किया। उघोग में 2010 के बाद आये हुए कर्मचारियों पर नई पेंशन योजना थोपे जाने का विरोध करते हुए कहा कि समस्त बीमा कर्मियों को 1995 की पेंशन योजना में शामिल किया जाना चाहिए। इसके अलावा कर्मियों हेतू प्रबंधन भी अपना योगदान 10% से बढ़ाकर 14% करें। सभा की अध्यक्षता बीमा कर्मचारी पेंशनर्स एसोसिएशन रायपुर मंडल के उपाध्यक्ष काम .टी. आर. नारंग ने की। सार्वजनिक क्षेत्र की आम बीमा कंपनियों के मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के पेंशनर्स संगठन के अध्यक्ष काम.‌वीर अजीत शर्मा भी इस अवसर पर विशेष रूप से उपस्थित थे। सभा स्थल से केन्द्रीय वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण को एक प्रस्ताव पारित कर बीमा पेंशनर्स की मांगों को पूरा करने, सार्वभौमिक पेंशन योजना लागू करने तथा देश भर में नई पेंशन योजना रद्द कर पुरानी पेंशन योजना को तत्काल बहाल किए जाने की मांग की गई।

Share Now

Leave a Response