प्रदेश

केंद्र सरकार ने माता कौशल्या के मायके, प्रभु श्रीराम के ननिहाल के साथ सौतेला व्यवहार किया:कांग्रेस

77views
Share Now

रायपुर:एआईसीसी मीडिया कोऑर्डिनेटर राधिका खेरा ने पत्रकारों को संबोधित करते हुये कहा कि भाजपा की रमन सिंह सरकार के 15 साल के कुशासन और गलत नीतियों के कारण छत्तीसगढ़ की अर्थव्यवस्था चरमरा गयी थी। बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, कुपोषण वादा खिलाफी हर सीमा लांघ दी थी। हर वर्ग त्रस्त और परेशान था। इसीलिये 2018 में प्रदेश की जनता ने भारतीय जनता पार्टी और रमन सिंह के पाप के घड़े को फोड़ने का काम किया और कांग्रेस की सरकार बनी। पिछले 5 साल में मोदी की केंद्र सरकार ने माता कौशल्या के मायके, प्रभु श्रीराम के ननिहाल के साथ सौतेला व्यवहार किया। लेकिन जहां चाह है वहां राह है। छत्तीसगढ़ को बेरोजगारी, कुपोषण, भ्रष्टाचार, वादाखिलाफी से मुक्त कराने की इसी चाह के चलते कांग्रेस सरकार, भूपेश बघेल ने राह बनाने का काम किया है और प्रदेश को आगे ले जाने का काम किया।
धान का कटोरा कहे जाने वाले छत्तीसगढ़ के किसान के हाथ में भाजपा की रमन सरकार ने कटोरा थमाने का काम किया था। एक-एक दाना धान खरीदने का वादा किया था। धान की कीमत 2100 रू. प्रति क्विंटल देने का वादा किया था, 300 रू. प्रति क्विंटल बोनस देन का वादा किया था। रमन और इनके मंत्री बोलते थे कि किसान शराबी है इसलिये आत्महत्या कर रहा है। भाजपा के 15 साल में 15000 से अधिक किसानों ने आत्महत्या किया।
इसी मंच पर बैठकर हमने हाथ में गंगाजल लेकर कसम खायी थी कि कांग्रेस की सरकार बनने पर 10 दिन के अंदर किसान का कर्ज माफ करेंगे। वादा 10 दिन का था लेकिन भूपेश बघेल ने मुख्यमंत्री बनते ही 2 घंटे के भीतर 19 लाख किसानों का 10 हजार करोड़ से अधिक का कर्ज माफ करने का काम किया। 10 दिन का वादा था 2 घंटे में पूरा किया।
देश में अधिक धान की कीमत छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार देते है यहां भी वादे से अधिक किया। धान की कीमत 2500 रू. देने का वादा किया लेकिन 2640 प्रति क्विंटल में धान खरीदा। मक्का खरीदने का वादा किया था 1700 रू. प्रति क्विंटल खरीद हम 1850 रू. में है। सोयाबीन 3500 प्रति क्विंटल, गन्ना 355 रू. प्रति क्विंटल, चना 4700 प्रति क्विंटल, रागी 3377 प्रति क्विंटल, कोदो कुटकी 3000 प्रति क्विंटल में खरीदी कर रहे है। जनजातीय क्षेत्र में रागी, कोदो कुटकी एमएसपी से खरीदने का काम किया। हमने वादा किया था कि 50 वनोपज की खरीदी करेंगे लेकिन 65 वनोपज खरीद रहे है। वनोपज की खरीदी के लिये केंद्र सरकार ने नंबर 1 का पुरस्कार दिया। देश में छत्तीसगढ़ सरकार 74 प्रतिशत वनोपज की खरीदी करती है।
वास्तविक सिंचाई में भी 20 प्रतिशत की वृद्धि की है। तेंदूपत्ता 2500 रू. मानक बोरा में खरीदा जाता था हमारी सरकार ने 4000 रू. मानक बोरा में खरीद रही है। 17 लाख से अधिक किसानों का 244 करोड़ से अधिक सिंचाई कर माफ किया। किसानों को सशक्त करने का काम किया उनके कर्ज थे उनको माफ किया।
प्रदेश में रमन सिंह सरकार में महिला असुरक्षित थी। हर दिन 3 बलात्कार की घटना होती थी, हर तीसरे दिन सामूहिक बलात्कार होता था। उस दौरान एनसीआरबी के अनुसार छत्तीसगढ़ 5वें नंबर पर था। झलियामारी आश्रम में 7-13 वर्ष के बच्चियों के साथ दुष्कर्म हुये थे। जब हमारी सरकार आयी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश की बागडोर संभाली, कांग्रेस सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा को अधिक महत्व दिया। कड़े कानून, कड़े कार्यवाही किया। महिलाओं के खिलाफ जुर्म में 68 प्रतिशत की कमी आयी। छत्तीसगढ़ महिला अत्याचार में 5वें नंबर से 17वें नंबर पर है। इतने कड़े कानून बनाये है कि महिलाओं के साथ छेड़छाड़ करेंगे तो उनको सरकारी नौकरी नहीं दी जायेगी।
महिलाओं को सशक्त करने का भी काम किया। महिला स्वसहायता समूह का 19 करोड़ से अधिक का कर्ज माफ किया। गोधन न्याय योजना के साथ महिला समूहों को जोड़ने का काम किया।
छत्तीसगढ़ के बच्चे, युवा नये पीढ़ी, छत्तीसगढ़ महतारी का नाम यही रौशन करेंगे लेकिन सबसे बड़ा वार रमन सिंह ने 15 साल में छत्तीसगढ़ में बच्चों के भविष्य पर किया था। रमन सरकार के 15 साल के कुशासन मे 3000 स्कूलों को बंद करने का काम किया। 52000 शिक्षक पद थे जिसमें 12000 व्याख्याता पद खाली थे। मिड-डे मिल में बच्चों के खाने में घपला किया। फर्जी आंकड़े दिखाकर पैसा खा गये। बच्चों के खाना में स्केम किया। कई जगह पर बच्चों की मौत भी हो गयी।
जब पढ़ेगा छत्तीसगढ़ तभी बढ़ेगा छत्तीसगढ़। कांग्रेस की सरकार, भूपेश बघेल की सरकार ने बंद स्कूल को खोलने का काम किया। बस्तर में 400 से अधिक स्कूल वापिस खोलने का काम किया। इसके साथ ही नये स्कूल खोलने का काम किया। हिन्दी मीडियम 727 से अधिक स्वामी आत्मानंद स्कूल 727 खोले, अंग्रेजी की पढ़ाई मुफ्त कराते है। सशक्त बनेंगे सवाल पूछेंगे तभी तो आगे जायेंगे। तभी तो छत्तीसगढ़ महतारी का नाम रौशन होगा। रमन सिंह नहीं चाहते थे कि यहां के बच्चे पढ़े। उन्होंने शिक्षा का अधिकार छिना। कांग्रेस की सरकार ने शिक्षा का अधिकार दिया। 12 वीं कक्षा तक बच्चों को मुफ्त शिक्षा मिलती है। नर्सरी शिक्षा आंगनबाड़ी में शुरू किया।
रमन सरकार के गलत नीति के कारण विरासत में 22 प्रतिशत बेरोजगारी दर मिला था लेकिन आज कांग्रेस सरकार 5 साल में छत्तीसगढ़ देश में बेरोजगारी दर आधा प्रतिशत सबसे कम है। बेरोजगारी भत्ता देने का काम किया जिसके तहत 1 लाख 32 हजार 730 बेरोजगार लोगों को बेरोजगारी भत्ता मिला है जिसकी कुल राशि 183 करोड़ से ज्यादा है केवल 6 माह के अंदर दिया है।
पांच साल पहले छत्तीसगढ़ एयरपोर्ट पर उतरते ही सबसे पहला नक्सल का डर लगता था। आज हम एयरपोर्ट पर उतरते है तो सबसे पहले दर्शन छत्तीसगढ़ महतारी और कौशल्या माता की होती है। आज छत्तीसगढ़ माता कौशल्या का मायका, प्रभु श्रीराम का ननिहाल, छत्तीसगढ़ महतारी और राम वन गमन से पहचाना जाता है।
आज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मुख्यमंत्री निवास चाहे तीजा पोरा हो, चाहे हरेली हो, विश्व आदिवासी दिवस हो, प्रदेश से आकर उनके निवास पर मिलते है। तीजा, पोरा, कर्मा जयंती आदि पर छुट्टी दिया जाता है।
पत्रकार वार्ता में प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला, वरिष्ठ प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर, घनश्याम राजू तिवारी, सुरेंद्र वर्मा, जयवर्धन बिस्सा, प्रवक्ता अजय गंगवानी, सत्यप्रकाश, परवेज अहमद, विकास विजय बजाज उपस्थित थे।

 

Share Now

Leave a Response