प्रदेश

धान खरीदी भूपेश सरकार अपने दम पर करती है, केंद्र का योगदान शून्य:कांग्रेस

81views
Share Now

रायपुर:राजीव भवन में पत्रकारों को संबोधित करते हुये प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी झूठ बोलने की जो श्रृंखला शुरू किया है उनके मंत्री अनुराग ठाकुर उसी झूठ की श्रृंखला को आगे बढ़ाने आये थे। अडानी के साथ मिलकर देश को लूटने का जो सिलसिला भाजपा ने शुरू किया है उस पर पर्दा डालने दूसरों पर झूठे आरोप लगा रहे सारा देश मोदी-अडानी की मित्रता को जान रहा।

*धान खरीदी भूपेश सरकार अपने दम पर करती है, केंद्र का योगदान शून्य*

ऽ अनुराग ठाकुर ने धान खरीदी पर एक बार फिर से झूठ बोला कि धान खरीदी केंद्र करती है जबकि हकीकत यह है कि छत्तीसगढ़ में धान कांग्रेस सरकार अपने खुद के दम पर खरीदती है, धान खरीदने में केन्द्र सरकार का एक पैसे का भी योगदान नहीं है। राज्य सरकार धान खरीदी मार्कफेड के माध्यम से करती है इसके लिये मार्कफेड विभिन्न वित्तीय संस्थाओं से ऋण लेती है तथा इस ऋण के लिये बैक गारंटी राज्य सरकार देती है तथा धान खरीदी में जो घाटा होता है उसको भी राज्य सरकार वहन करती है पिछले वर्ष मार्कफेड ने लगभग 35000 करोड़ का ऋण धान खरीदी के लिये लिया था। मोदी सरकार तो घोषित समर्थन मूल्य से 1 रूपये भी ज्यादा कीमत देने पर राज्य सरकार को धमकाती है की वह राज्य से केन्द्रीय योजनओं के लिये लगने वाला चावल नही खरीदेंगे। अकेली छत्तीसगढ़ सरकार है जो अपने धान उत्पादक किसानों को देश में सबसे ज्यादा कीमत देती है। छत्तीसगढ़ के किसानों को पिछले वर्ष धान की कीमत 2640 मिली, उत्तर प्रदेश, गुजरात, जैसे राज्यों में तो किसानों को धान का मूल्य 1100 रूपये मिलता है। छत्तीसगढ़ देश का अकेला ऐसा राज्य है जहां किसानों को प्रति एकड़ धान पर 9,000 रूपये तथा अन्य फसल पर 10,000 रूपये की इनपुट सब्सिडी मिलती है। कांग्रेस सरकार में चालू खरीफ सीजन में 20 क्विंटल धान की खरीदी 2800 रू. की दर पर की जायेगी।

*मोदी सरकार ने मना किया तब कांग्रेस सरकार ने आवास योजना शुरू किया*

ऽ अनुराग ठाकुर ने प्रधानमंत्री आवास पर भी झूठ बोला मोदी सरकार के गरीब विरोधी नीति के कारण केन्द्र की मोदी सरकार लगातार छत्तीसगढ़ की उपेक्षा कर रही है। राज्य के प्रतीक्षारत 7 लाख आवासों की प्रतीक्षा सूची को केन्द्र लंबे समय से रोके रखा हैं, जिसके कारण राज्य आवासहीनों को परेशानी उठानी पड़ रही थी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री को अनेकों बार पत्र लिखकर प्रतीक्षा सूची को क्लियर करने की मांग किया लेकिन राज्य के प्रति दुर्भावना के कारण भाजपा की केन्द्र सरकार ने राज्य के आवासों को लटकाये रखा है केन्द्र के इस दुर्भावना पूर्ण रवैये से राज्य की जनता को राहत देने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री ने राज्य अपनी आवास योजना शुरू किया है। जिसमें 7 लाख आवासहीनों को भूपेश सरकार स्वयं आवास उपलब्ध करायेगी। छत्तीसगढ़ ही नहीं पूरे देश में प्रधानमंत्री आवास योजना का आबंटन केंद्र सरकार के पास फंड की कमी के चलते रद्द किया गया है। मोदी सरकार प्रधानमंत्री आवास योजना बंद करने का षडयंत्र कर रही। प्रधानमंत्री के गृह राज्य गुजरात में भी प्रधानमंत्री आवास योजना में मात्र 40 प्रतिशत काम हुये है। मध्यप्रदेश 30 प्रतिशत, उत्तर प्रदेश में स्थिति सबसे ज्यादा खराब है ऐसे में भाजपा नेता मोदी सरकार के नाकामी पर पर्दा डालने झूठे आरोप लगा रहे है। छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा 800 करोड़ के राज्यांश के भुगतान के बाद में राज्य का आबंटन क्यो रद्द हुआ एक भी भजपा सांसद ने केंद्र से पूछने का साहस नहीं दिखाया।

*महादेव एप्प का मोदी-योगी सरकार का संरक्षण*

ऽ महादेव एप्प पर भी अनुराग ठाकुर ने झूठ बोलकर अपने पाप को छुपाया है। महादेव एप्प को भाजपा की केंद्र सरकार का संरक्षण है। छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने तो महादेव एप्प पर कार्यवाही किया है। एप्प पर प्रतिबंध लगाने का अधिकार केंद्र सरकार के पास है। केंद्र सरकार महादेव एप्प पर प्रतिबंध क्यों नहीं लगाती है? महादेव एप्प के संचालक को केंद्र सरकार दुबई में क्यों नहीं पकड़ती है? महादेव एप्प मामले में देश में सबसे ज्यादा कार्यवाही छत्तीसगढ़ सरकार ने किया है। नोएडा में जब छत्तीसगढ़ सरकार महादेव एप्प में आरोपी को पकड़ने गयी तो योगी सरकार की पुलिस ने आरोपियों को बचाने छत्तीसगढ़ पुलिस पर कार्यवाही कर दिया था। महादेव एप्प को योगी और मोदी का सरंक्षण है।

*रमन एंड कंपनी ने 15 सालों में 1 लाख करोड़ का घोटाला किया था*

ऽ अनुराग ठाकुर भ्रष्टाचार पर बड़ी-बड़ी बातें कर रहे थे। छत्तीसगढ़ के रमन सिंह और उनके सहयोगियों के भ्रष्टाचार पर क्यों मौन है? रमन एंड कंपनी ने 15 सालों में 1 लाख करोड़ का घोटाला किया था। गरीबों के राशन का महाघोटाला 36,000 करोड़ के नान घोटाले की जांच क्यों नहीं करवाते? 6200 करोड़ के चिटफंड घोटाले की जांच क्यों नहीं करवाते? प्रधानमंत्री जी रमन राज के शराब 4400 करोड़ के घोटाले की जांच कब करवायेंगे? पनामा पेपर वाले अभिषाक सिंह की जांच क्यों नहीं करवाती केंद्र सरकार? छत्तीसगढ़ में 15 साल में गौमाता के नाम पर भाजपा नेताओं ने 1677 करोड़ का घपला किया प्रधानमंत्री इस पर कुछ तो करें? इंदिरा प्रियदर्शिनी बैंक के गुनाहगार भाजपा नेताओं पर भाजपा कब कार्यवाही करेगी?

*मोदी सरकार छत्तीसगढ़ से लेती ज्यादा है देती कम है*

ऽ अनुराग ठाकुर ने आज छत्तीसगढ़ की जनता पर अहसान जताया कि छत्तीसगढ़ सरकार को केंद्र सहयोग करता है जबकि हकीकत यह है कि छत्तीसगढ़ में केंद्र लेता ज्यादा है देता कम। छत्तीसगढ़ से केन्द्र को विभिन्न मदो से सेन्ट्रल, जीएसटी, इनकम टैक्स, पेट्रोलियम पदार्थो पर सेन्ट्रल एक्साईज, कोल खनन, आयरन ओर बाक्साईट टिन के खनन से तथा रेल भाड़ा से पिछले पांच वर्षो में 461908.66 करोड़ रू. वसूला है। इन पांच वर्षो में राज्य के हिस्से में 192190.76 करोड़ रू. मिला। वसूली गयी राशि से 269717.93 कम मिला। इसमें भी विभिन्न मदो में केन्द्र राज्य के हिस्से का 55000 हजार करोड़ रू. अभी तक नहीं दिया है। कुल राशि राज्य को मात्र 137190.76 करोड़ ही मिली है। जितना केंद्र से मिला है उससे ज्यादा 1.70 लाख करोड़ तो कांग्रेस सरकार ने अकेले किसानों के ऊपर खर्च किया है। विगत 5 वर्षो में केन्द्र से छत्तीसगढ़ को औसतन हर साल मिले मात्र 27438 करोड़ और छत्तीसगढ़ से केन्द्र द्वारा वसूली औसत हर साल 92382 करोड़ अर्थात छत्तीसगढ़ से कुल वसूली का 29.7 प्रतिशत ही छत्तीसगढ़ को मिला है। विगत 5 वर्षो में छत्तीसगढ़ से केन्द्र द्वारा कुल वसूली का 70.3 प्रतिशत केन्द्र की मोदी सरकार के पास।

पत्रकार वार्ता में प्रभारी महामंत्री प्रशासन संगठन मलकीत सिंह गैंदू, महामंत्री चंद्रशेखर शुक्ला, अजय साहू, वरिष्ठ प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर, सुरेंद्र वर्मा, प्रवक्ता नितिन भंसाली, अजय गंगवानी, ऋषभ चंद्राकर, सौरभ साहू, सुजीत गिधोले, शाहरूख अशरफी उपस्थित थे।

 

Share Now

Leave a Response