शहर

नफरत, घृणा, और हिंसा के विरुद्ध भाईचारा, और देश की एकता की रक्षा के लिए जनसंगठनों, ट्रेड यूनियनों के कार्यकर्ताओं ने रखा, उपवास

62views
Share Now

रायपुर, बापू आज भी जिंदा हैं के नारे के साथ, भाईचारा प्रेम और सद्भाव की रक्षा के लिए तथा नफरत, घृणा और हिंसा फैलाने वाली वर्तमान केंद्र में सत्तासीन राजनीति के खिलाफ, ट्रेड यूनियनों और जनसंगठनों के कार्यकर्ताओं ने आजाद चौक में गांधी प्रतिमा के समक्ष 12बजे से 2 तक सामूहिक उपवास और सभा कर महात्मा गांधी (बापू ) को याद किया और उनके मूल्यों और आदर्शों को अमल में लाने का संकल्प लिया ।
CITU, आरडीआईइयू, एस एफ आई, जनवादी नौजवान सभा, किसान सभा, सी जी एस पी यू, स्वंत्रतता संग्राम उत्तराधिकारी संघ सहित कई जनसंगठनों के कार्यकर्ता आज दोपहर 12 बजे आजाद चौक गांधी प्रतिमा के समक्ष एकत्रित हुए और गांधीजी कि प्रतिमा पर माल्यार्पण किया तथा सांप्रदायिकता और नफरत फैलाने वाली राजनीति के खिलाफ ओजस्वी नारेबाजी के बाद 2 घंटे का सांकेतिक सामूहिक उपवास कर सभा की ।सभा की शुरुआत में जनगीत भी गाए गए ।सभा को cziea के महासचिव धर्मराज महापात्र, सामाजिक कार्यकर्ता डा विक्रम सिंघल, डा राजेश अवस्थी, शीतल पटेल, प्रदीप मिश्र, केके साहू, अतुल देशमुख, सुरेंद्र शर्मा, गर्व गभने, हर्ष सिंघानी, ओंकार ध्रुव, गजेंद्र पटेल, संदीप सोनी, करण सोनकर, महेंद्र बिसेन, गांधीवादी संतोष सोनी, महेश दुबे ने संबोधित किया । सभी वक्ताओं ने गांधी जी की प्रासंगिकता को रेखांकित किया तथा गांधी जी के हत्यारों की विचारधारा के द्वारा फिर से देश भर में नफरत और घृणा फैला कर देश तोड़ने की साजिशों पर चिता व्यक्त की । वक्ताओं ने एक स्वर से सांप्रदायिकता की भाजपा, संघ की राजनीति की तीव्र आलोचना की । समाज को धर्म एवं जाति के नाम पर बांटने की नीतियों के खिलाफ लड़ने की उपस्थित जनों ने शपथ ली और बापू के जीवन मूल्यों को लोगों के बीच प्रसारित करने का आव्हान किया । वक्ताओं ने कार्यक्रम में।युवाओं की भागीदारी पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए भारत की गंगा जमुनी तहजीब पर हो रहे आक्रामक हमलों के विरुद्ध उनसे व्यापक कार्यवाहियों का आव्हान किया ।दोपहर 2 बजे सांप्रदायिकता विरोधी नारों के साथ इस श्रद्धांजलि सभा का समापन किया गया ।

Share Now

Leave a Response