शहर

अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस पर विशेष: अदाणी फाउंडेशन की एमएमएचसीयू से वृद्धजनों को घर बैठे मिल रही, निःशुल्क स्वास्थ्य सेवाएं

69views
Share Now

रायगढ़,:* जिले के पुसौर ब्लॉक में अदाणी फाउंडेशन द्वारा चलाए जा रहे मोबाइल मेडिकल हेल्थ केयर यूनि (एमएमएचसीयू) से ग्रामीण समुदायों में विशेष कर वृद्धजनों को महत्वपूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं कई वर्षों से प्राप्त हो रही है। जो रविवार 01 अक्टूबर को अंतर्राष्ट्रीय वृद्ध दिवस के अवसर पर यूनाइटेड नेशन द्वारा जारी की गई इस वर्ष की थीम “वृद्ध व्यक्तियों के लिए मानव अधिकारों की सार्वभौमिक घोषणा के वादों को पीढ़ियों तक पूरा करना” को अदाणी फाउंडेशन के इस पहल ने चरितार्थ किया है। अदाणी पॉवर लिमिटेड, रायगढ़ के सामाजिक सरकारों की प्रतिबद्धता के तहत संचालित कई कार्यक्रमों में से एक अच्छी स्वास्थ्य सेवाओं के अंतर्गत क्षेत्र के वृद्धजनों की स्वास्थ्य समस्याओं का समाधान किया जा रहा है।

अदाणी फाउंडेशन द्वारा एमएमएचयू की मदद से ग्राम छोटे भंडार, बड़े भंडार, सुपा, अमलीभौना, कोतमरा इत्यादि सहित आसपास के 18 ग्रामों के लगभग 18500 आबादी को प्रतिदिन रोस्टर के अनुसार ग्रामों में जाकर निः शुल्क स्वास्थ्य सेवाएं दी जा रही है। वहीं अभी तक लगभग 3000 से अधिक वृद्धजनों को पंजीकृत कर उनके स्वास्थ्य की देखभाल तथा दवाइयों भी उन्हें घर बैठे उपलब्ध करा रहा है।

एमएमएचसीयू में पिछले दो वर्षों से एक नियमित लाभार्थी के रूप में अपना ईलाज करा रहे ग्राम छोटेभंडार के 77 वर्षीय निवासी सुखी राम निषाद, बताते हैं कि, “वे अपने बेटे पर निर्भर हैं और 350 रुपये की अल्प मासिक वृद्धावस्था पेंशन पाते हैं। वे आर्थिक संकट के कारण अपने उच्च रक्तचाप और मधुमेह से संघर्ष कर रहे थे। अब अपने गाँव में ही अदाणी फाउंडेशन की मोबाइल यूनिट द्वारा प्रदान की जाने वाली महत्वपूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं उन्हें निःशुल्क प्राप्त हो रही है।“ इसी तरह, कोतमरा गांव के 88 वर्षीय निवासी मुरलीधर मालाकार को पॉलीआर्थराइटिस से राहत पाने के लिए एमएमएचसीयू द्वारा एक सहायक उपकरण प्राप्त हुआ। ग्राम सूपा की 83 वर्षीय लालमती यादव और ग्राम सरवानी के 60 वर्षीय हीरालाल सिदार दोनों का उच्च रक्तचाप के साथ हड्डियों, जोड़ों, मांसपेशियों के दर्द का इलाज चल रहा है। उनका नियमित चिकित्सा देखभाल और दवाएं मोबाइल मेडिकल केयर यूनिट द्वारा उपलब्ध किया जा रहा है ।अदाणी फाउंडेशन के एमएमएचसीयू द्वारा न सिर्फ क्षेत्र के बुजुर्गों की स्वास्थ्य की देखभाल की जा रही है बल्कि उनमें होने वाली किसी भी बीमारी को बुढ़ापे की बीमारी कह कर अनदेखा कर स्वास्थ्य केंद्रों तक नहीं जा पाने एवं आर्थिक तंगी के कारण दवाइयों को न लेना इत्यादि के लिए जागरूक भी किया जा रहा है।

यह जीवनदायनी कार्यक्रम सीएसआर के अन्तर्गत अदाणी फाउंडेशन के सहयोग से हेल्पऐज इंडिया सभी 18 ग्रामों के ग्रामीणों विशेष कर महिलाओं, बच्चों एवं वृद्धजनों के स्वास्थ्य और कल्याण के प्रति प्रतिबद्ध है।

Share Now

Leave a Response