प्रदेश

कांग्रेस पर प्रधानमंत्री मोदी की टिप्पणी अमर्यादित और अस्वीकार्य: सुशील

132views
Share Now

रायपुर : कांग्रेस के संबध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की टिप्पणी को प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि अमर्यादित और अस्वीकार्य बताते हुये कहा कि भाजपा नेता नरेन्द्र मोदी के बयान प्रधानमंत्री पद की गरिमा को गिराने वाले रहते है, देश की सबसे पुरानी पार्टी जिसने देश की आजादी की लड़ाई लड़ी जिस कांग्रेस ने देश के लिये कुर्बानियां दिया है। उसको अर्बन नक्सलियों से जोड़ना भाजपा और मोदी के मानसिक दिवालियेपन को दिखाता है। जिस भाजपा का सांसद विधुड़ी संसद के अंदर अपने ही सहयोगी विपक्षी सांसद के धर्म सूचक अभद्र टिप्पणियां करता हो धर्म के आधार पर विपक्ष के सांसद को उसके धर्म के कारण आतंकवादी होने का आरोप लगाता हो उस दल के नेता से ओर अपेक्षा भी क्या की जा सकती है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि आजादी के पहले और उसके बाद से ही भाजपा के पितृ संगठन और भाजपा दोनों में ही आतंकी विद्वेष फैलाने वालों का प्रश्रय दिया गया राष्ट्रपिता का हत्यारा और देश का पहला आतंकवादी नाथूराम गोंडसे भाजपाईयों का आदर्श रहा है। भाजपाई आज भी नाथूराम गोंडसे का महिमा मंडन करने से पीछे नहीं हटते है। प्रज्ञा ठाकुर जैसे आतंकी गतिविधियों में शामिल जो खुलेआम महात्मा गांधी के लिये अभद्र शब्दों का प्रयोग करती है वह भाजपा की सांसद है दिखावे के लिये मोदी कहते है वे प्रज्ञा को कभी माफ नही कर सकते लेकिन संसदीय दल में उसका सम्मान करते है। असम और मणिपुर में भाजपा उग्रवादियो के साथ खड़ी रहती है 110 बोडो उग्रवादियों को भाजपा ने अपना सदस्य बनाया है। पाकिस्तानी एजेंट धु्रव सक्सेना, प्रदीप कुरीलकर जैसे देशद्रोही भाजपा और आरएसएस के पदाधिकारी थे। बीजेपी के दो नेताओं हिमंता बिसवा सरमा और राम माधव ने 2017 में मणिपुर विधानसभा चुनाव जीतने के लिये कुकी आतंकी संगठनों की मदद ली थी, कुकी विद्रोह संगठन के नेता का दावा है कि उसने केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह को लिखे पत्र में इसकी जानकारी दी है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि अपनी सरकार की 9 साल की नाकामियों से जनता का ध्यान हटाने प्रधानमंत्री मोदी कांग्रेस को कोसने का गालियां दे रहे है लेकिन वे कुछ भी कर ले उन्हें जनता को बताना ही होगा कि नोटबंदी, जीएसटी के क्या फायदे हुये? महंगाई कम क्यों नही हो रही है? रसोई गैस पेट्रोल- डीजल के दाम आसमान क्यो छू रहे है? 2 करोड़ रोजगार के अनुसार 19 करोड़ रोजगार का क्या हुआ? किसानों की आय दुगुनी क्यो नही हुई, लोगों के खाते में 15 लाख कब आयेंगे? देश की बेरोजगारी दर 50 साल में सबसे ज्यादा क्यो है? भाजपा और नरेन्द्र मोदी सोचते है कि कभी धर्म की आड़ लेकर कभी विरोधियों को कोसकर अपनी जिम्मेदारी से भाग जायेंगे तो मुगलाते में है अब की बार न सेना के पराक्रम के आधार पर और न ही राष्ट्रवादी के नाम पर जनता भुलावे में नही आने वाली अबकी बार तो जनता के सवालों का जवाब देना ही होगा।

 

Share Now

Leave a Response