शहर

विश्व स्तनपान सप्ताह: अदाणी फाउंडेशन पुसौर ब्लॉक के ग्रामों में आयोजित कर रहा जागरूकता कार्यक्रम

74views
Share Now

 

रायगढ़: विश्व स्तनपान सप्ताह के अवसर पर अदाणी फाउंडेशन द्वारा जिले के पुसौर ब्लॉक में ग्राम स्तर पर 1 से 7 अगस्त तक विभिन्न जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। अदाणी पॉवर लिमिटेड, रायगढ़ के सामाजिक सरोकारों के तहत मंगलवार को विश्व स्तनपान सप्ताह के उद्घाटन समारोह के प्रथम दिन पर सामुदायिक भवन, ग्राम बड़े भंडार में जागरूकता कार्यक्रम की शुरुआत की गई। जिसमें आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं, स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं सहित 50 से अधिक ग्रामीणों ने भाग लिया।

इस अवसर पर कार्यक्रम में मुख्य अतिथि डॉ काकुली पटनायक -स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ, विशिष्ट अतिथियों में डॉ. के. पी. राठिया-प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, उपसरपंच श्री यशवंत प्रधान,  जयश्री शेट्टे – एकीकृत बाल विकास सेवा तथा डॉ सुरेश पटेल उपस्थित थे। कार्यक्रम में डॉ. काकुली पटनायक ने स्तनपान सम्बन्धी भ्रान्ति, सावधानी और उसके महत्व पर प्रकाश डालते हुए शिशुवती महिलाओं को नवजात शिशुओं को जन्म के बाद से स्तनपान कराने की सलाह दी साथ ही स्तनपान से बच्चे और माता को क्या क्या लाभ होते है इस बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देते उनके शंकाओ और प्रश्नों का उत्तर दिया । इस दौरान कार्यक्रम में उपस्थित महिलाओं में, चार का हीमग्लोबिन टेस्ट, 30 महिलाओं का वजन और 16 महिलाओं का स्वास्थ्य जाँच कर निःशुल्क दवा का वितरण भी किया गया।

कार्यक्रम में मौजूद ग्राम के उपसरपंच  यशवंत प्रधान ने कहा कि, “स्वास्थ्य के क्षेत्र में अदाणी फाउंडेशन द्वारा किये जा रहे कार्य सराहनीय है और इनके द्वारा समय समय पर लोगों को जागरूक करने का प्रयास अभूतपूर्व है।“ वहीं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डॉ. के. पी. राठिया ने अपने सम्बोधन में बताया कि माँ का दूध बच्चे के लिए सर्वोतम आहार है जिसके द्वारा उसका सम्पूर्ण शारीरिक और मानसिक विकास निर्भर होता है उन्होंने उपस्थित सभी माताओ से स्तनपान को अपनाने की सलाह दी।

पुसौर विकासखंड में अदाणी पॉवर लिमिटेड, रायगढ़ आसपास के 14 ग्रामों में सामाजिक सहभागिता के तहत शिक्षा, स्वास्थ्य, आजीविका संवर्धन तथा अधोसंरचना विकास के कई कार्यक्रम संचालित कर रहा है। जिनमें अपने सीएसआर निर्वहन की इकाई अदाणी फाउंडेशन के द्वारा अधोसंरचना विकास के अंतर्गत पिछले महीने जुलाई में ग्राम पंचायत के आग्रह पर तीन ग्रामों रुचिदा, बुनगा और पुटकापुरी में तालाबों का गहरीकरण किया गया है। इस पहल के माध्यम से तालाबों की भू-जल संचय क्षमता में 16 हजार क्यूबिक मीटर से अधिक जल का अतिरिक्त संचय हो सकेगा। यह सामाजिक उत्तरदायित्व का एक महत्वपूर्ण कदम है जो पर्यावरण संरक्षण के लिए महत्वपूर्ण योजना है।

Share Now

Leave a Response