प्रदेश

रामायण महोत्सव के विरोध से साबित भाजपाई कलयुगी कालनेमी-कांग्रेस

98views
Share Now

रायपुर: अंतर्राष्ट्रीय रामायण महोत्सव से छत्तीसगढ़ का सांस्कृतिक और पौराणिक वैभव सारी दुनिया में फैलेगा। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि राम वन गमन पथ, माता कौशल्या मंदिर निर्माण के बाद अंतर्राष्ट्रीय रामायण महोत्सव का आयोजन करवा कर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने साबित कर दिया कि वे सच्चे राम भक्त है। इसके पहले भी कांग्रेस सरकार ने छत्तीसगढ़ के गांव-गांव में फैली रामायण प्रतियोगिताओं का भी आयोजन करवाया था। माता कौशल्या महोत्सव के बाद रामायण महोत्सव आयोजन से माता कौशल्या और भांचा राम के साथ छत्तीसगढ़ का पुरातन नाता फिर से जीवंत हो गया है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि जब से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल रामकाज कर रहे है भाजपाई की तिलमिलाहट बढ़ती जा रही है। भाजपाईयों को बर्दाश्त नहीं हो रहा है कि कांग्रेस सरकार कैसे काम काज कर रही है? जो काम भाजपा 15 साल में नहीं कर पाई भूपेश बघेल उसे साढ़े चार साल में कर के दिखा दिये। भाजपा भगवान राम के नाम पर राजनीति करती है। भगवान राम का नाम लेकर भाजपा 2 सीट से लोकसभा में पूर्ण बहुमत की सरकार दो-दो बार बना ली। छत्तीसगढ़ में 15 साल भाजपा की सरकार थी कभी राम वन गमन पथ, माता कौशल्या के मंदिर को बनाने का ख्याल भाजपा के मन में नहीं आया। छत्तीसगढ़ के जन मन में बसे भगवान राम की महिमा का गान करने रामायण महोत्सव का आयोजन करने का भी ख्याल नहीं आया। आज जब भूपेश बघेल राम काज कर रहे तो कालनेमि रूपी भाजपाई उसकी आलोचना कर रहे है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि कांग्रेस सरकार के साढ़े चार साल में छत्तीसगढ़ राममय हो गया। छत्तीसगढ़ को राममय होता देख राम के नाम से राजनीति करने वाले चंदा बटोरने वाले भाजपा के पेट में दर्द शुरू हो गया। भाजपा अब छत्तीसगढ़ के भांचा श्री राम जी और बेटी कौशल्या माता जी के विरोध में उतर आई है। छत्तीसगढ़ के भांचा मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम जी के वनवास काल के दौरान जो अधिकांश समय छत्तीसगढ़ में बीता जिसके अपने पौराणिक महत्व है जिसमें अनेक संदेश छुपे हुए हैं उस राम वन गमन पथ को संरक्षित करने के लिए सुंदर बनाने के लिए और माता कौशल्या जी जो छत्तीसगढ़ की बेटी है उनका इकलौता मंदिर चंदखुरी में है उस मंदिर की भव्यता सुंदरता के लिए कांग्रेस सरकार में कार्य हो रहे है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि 15 साल तक राम वन गमन पथ नहीं बनाया। माता कौशल्या का मंदिर पर ध्यान नहीं दिया। कांग्रेस की सरकार कर रही तो इनको पीड़ा हो रही है। भाजपाई बतायें कि उनको रामायण महोत्सव से परेशानी क्यों है? 15 सालों तक भाजपा की सरकार थी क्यों रामायण महोत्सव नहीं कराया? कांग्रेस सरकार रामायण महोत्सव करवा रही तो उसको पीड़ा क्यों हो रही? क्यों गांव-गांव की रामायण मंडलियों को प्रोत्साहित नहीं किया था? माता कौशल्या और भगवान राम का छत्तीसगढ़ से नाता कांग्रेस की सरकार आने के बाद नहीं हुआ था, यह नाता तो पौराणिक सत्य है। भाजपा को 15 साल तक भगवान राम की याद नहीं आई।

 

Share Now

Leave a Response