प्रदेश

ज्ञानेश शर्मा ने कहा दुनिया के लोगों का भरोसा योग और आयुर्वेद के प्रति बढ़ाहै

92views
Share Now

रायपुर: शासकीय आयुर्वेद महाविद्यालय रायपुर में नवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर आयोजित पांच दिवसीय योग समारोह का समापन आज छत्तीसगढ़ योग आयोग के अध्यक्ष  ज्ञानेश शर्मा के मुख्य आतिथ्य में संपन्न हुआ। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर महाविद्यालय द्वारा 21 जून से 26 जून तक योग से जुड़े विभिन्न कार्यक्रम योगाभ्यास शिविर,पोस्टर प्रतियोगिता, “स्वास्थ्य के लिए मिलेट्स” के अंतर्गत व्यंजन प्रतियोगिता, योग नृत्य प्रतियोगिता आदि का आयोजन किया गया। अंर्त महाविद्यालयीन योग नृत्य प्रतियोगिता में शासकीय और निजी आयुर्वेद महाविद्यालय के साथ एन‌आ‌ईटी रायपुर के छात्रों ने भी भाग लिया। समापन समारोह में विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेता समूह और छात्रों को पुरस्कृत किया गया।
समापन समारोह को संबोधित करते हुए योग आयोग के अध्यक्ष ज्ञानेश शर्मा ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना के दौरान देश और दुनिया के लोगों का भरोसा योग और आयुर्वेद के प्रति बढ़ा है। श्री शर्मा ने बताया कि आयोग द्वारा रायपुर सहित विभिन्न जिलों के उद्यानों और सार्वजनिक स्थानों पर नियमित योगाभ्यास कराया जा रहा है जिससे प्रदेशवासी लाभान्वित हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि योग आयोग द्वारा यूनिसेफ के सहयोग से आयुष विभाग के साथ मिलकर कोंडागांव जिला में गर्भवती महिलाओं के लिए विशेष शिविर का आयोजन किया जा रहा है जिसका बेहतर प्रतिसाद मिल रहा है। विशेष शिविर को मिल रहे प्रतिसाद को देखते हुए इसका विस्तार सरगुजा संभाग में भी किया जाएगा। उन्होंने उपस्थित छात्र-छात्राओं को अपने दिनचर्या में योगाभ्यास को नियमित रूप से शामिल करने की अपील करते हुए कहा कि योग से छात्रों के जीवन में अनुशासन आता है जो उनके भविष्य निर्माण के लिए आवश्यक है।
कार्यक्रम में आयुष विभाग के संयुक्त संचालक डॉ.सुनील दास, महाविद्यालय के विभागाध्यक्ष प्रो. डॉ. एल.सी. हर्जपाल, आयुष बोर्ड के रजिस्ट्रार डॉ. संजय शुक्ला, अधीक्षक डॉ.प्रवीण जोशी, प्रो.डॉ.अनिता शर्मा उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन डॉ.सस्मिता त्रिपाठी ने तथा आभार प्रदर्शन डॉ. जेपी.मिश्रा ने किया। कार्यक्रम में डॉ.अरूणा ओझा, डॉ. रूपेन्द्र चंद्राकर, डॉ.सुनीता जैन, डॉ.विभा पाली, डॉ.स्वरांजलि जांगड़े, डॉ.लवकेश चंद्रवंशी, डॉ.विनय भारद्वाज सहित स्वस्थवृत्त स्नातकोत्तर विभाग के छात्रों का विशेष प्रयास रहा ।

Share Now

Leave a Response